क्रिकेट शर्त प्रक्रिया – भारत क्रिकेट शर्त प्रक्रिया उपदेशक

भारत क्रिकेट शर्त प्रक्रिया उपदेशक

क्रिकेट का विख्यात इतिहास है जो 16 वीं शताब्दी तक माना जाता है | क्रिकेट का आरम्भ
मध्यकालीन इंग्लॅण्ड में बच्चो के खेल से हुआ | शीघ्र ही वयस्कों ने इसे एक एथलेटिक हुनर ,
भौतिक सहनशक्ति और युक्तिपूर्ण सोच कि सश्रम परीक्षा के तौर पर अपनाया | आज यह खेल
विश्व भर में देखा जा सकता हैं, परन्तु इसके प्रशंसक भारत से ज्यादा कही भी नहीं | आई पी एल
इंडियन प्रमियर लीग, शर्तों के लिए विश्व भर की क्रिकेट लीग में से सबसे लोकप्रिय है | करीब
सब एशियाई यूरोपीय और उतर अमरीकी सट्टेबाज इस पर शर्त लेते है जैसे हमारे लेख क्रिकेट
शर्त प्रक्रिया साईट में कहा है, बहुत से यूरोपी सट्टेबाज, जिनमे शामिल है www.bet365.com
सकर्मक रूप से भारतीयों को शर्त लगाने के लिए उनकी वेबसाइट की
और आकर्षित कर रहे है और अब भारतीय मुद्रा में खाता खोल रहे है |
क्रिकेट के इतिहास पर वापस जाते हुए, जब व्यस्को ने इस खेल को अपना लिया तब यह इतना
लोकप्रिय हो गया कि सरे राष्ट्रमंडल देशो में फ़ैल गया | 18 वी सताब्दी के आरम्भ में वेस्ट इंडीज के
उपनिवेशी इसे पसंद करने लगे | 1721 में ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी के नाविक क्रिकेट को भारतीय
उपमहादीप में ले आये थे और 19 वी शताब्दी के आरम्भ तक यह ऑस्ट्रेलिया, न्यू जीलैंड और
दक्षिण अफ्रीका पहुँच गया था |
जबकि अंतररास्ट्रीय मैच 1844 में खेले जा रहे थे, आधिकारिक टेस्ट क्रिकेट की शुरुआत 1877 में
हुई | तब तक ब्रिटिश सट्टेबाजो ने क्रिकेट शर्त प्रक्रिया को लाभकर व्यवसाय के रूप में स्थापित कर
दिया था | आज क्रिकेट एक पेशावर खेल माना जाता है और विश्व के 100 से ज्यादा देशो में लोग इसका
आनंद लेते है | ICC या इंटरनेशनल क्रिकेट कौंसिल – पहले इम्पीरियल क्रिकेट कांफ्रेंस – इसका विश्वीय
संगठन है जो खेल कि प्रमुख अंतररास्ट्रीय प्रतियोगिताओ कि देख रेख करती है जिसमे शामिल है
क्रिकेट विश्व कप | ICC रेफरी और अम्पायरों कि नियुक्ति के लिए भी जिम्मेदार है, जो टेस्ट मैचों, एक
दिवसीय अंतररास्ट्रीय मैचों (ODIS) और 20-20 अंतररास्ट्रीय मैचों के लिए अधिकृत किया जाते है |
ICC कोड ऑफ़ कांदुक्ट अंतररास्ट्रीय क्रिकेट के लिए अनुशाशन के पशेवर मापदंड स्थापित करता है |
हर क्षेत्र में जहा क्रिकेट खेला जाता है आतंरिक लीगो का विकास हुआ है | यु. के. में शामिल है काउंटी
चेम्पियनशिप डिविजन एक और दो और द प्रो 40 नेशनल लीग एक और दो | भारत में इंडियन प्रीमियर
लीग (IPL) क्रिकेट का मुख्या बिंदु है, जिसमे अब दस टीम है और एक रोमांचक सालाना प्रतियोगिता
IPL विजेता के लिए |
जबकि कुछ देशो में क्रिकेट शर्त प्रक्रिया को कानूनी बनने से रोका जा रहा है, लीग और अंतरास्ट्रीय मैचों पर
शर्त लगाना इन्टरनेट के जरिये एक बड़ा विश्व्यापी उद्योग बन गया है | भारत में, जबकि द्युत गैर कानूनी है,
कानून को सक्रिय रूप से कभियो लागु नहीं किया  गया है  जहा तक घर से इन्टरनेट द्वारा विदेशी सट्टेबाजो
से संपर्क का सवाल है | जैसे आप हमारे रुपया लेने वाले सट्टेबाज के पृष्ठ पर देख सकते है, भारतियों के लिए
रुपयों में ऑनलाइन द्युत के सुरक्षित विकल्प है जहा जीती रकम का बिना अड़चन भुगतान करा जा सकता है |
अब जब तय हो गया है कि ऑनलाइन द्युत संभव है, हम क्रिकेट शर्तों के प्रकार पर ध्यान डालें |

क्रिकेट शर्तों के प्रकार

क्रिकेट में सबसे लोकप्रिय शर्त है कि मैच कौन जीतेगा | यह मैच बेटिंग कहलाती है और इसमें जुआरी एक टीम को
चुनता है, जैसे मुंबई इंडियंस राजस्थान रोयल्स को हराएगी | यदि अनुमान सही निकला तो तय भावों पर भुगतान किया
जाता है | भाव फेक्संस, डेसीमल, या मनी लाइंस में दिए जाते है |

दो अन्य क्रिकेट शर्त के लोकप्रिय प्रकार है सीरिस विजेता और आउटराइट विजेता | पहली तब दी जाती है जब टीम सीरिस में
एक से ज्यादा मैच खेले, जैसे द ऐशेस ऑस्ट्रेलिया और इंग्लॅण्ड के बीच पाँच मैचों कि सीरिज है | दूसरी शर्त “फ्यूचर्स” या
“एंटे पोस्ट ” कहलाई जाती है और एक टीम पर लगायी जाती है जो प्रतियोगिता या सीजन में अव्वल आये, 2012 में चेन्नई
सुपर किंग्स फिर IPL विजेता बने या मुंबई इंडियंस फिर CLT20 विजेता बने |

शर्त जो क्रिकेट मैच, सीरिस या प्रतियोगिता के अंतिम नतीजे से सीधे सम्बंधित नहीं है वे
प्रोपोजिशन शर्त या “पोप” कहलाती है | इनमे सम्मिलित है टीम पोप्स जैसे कोनसी टीम टॉस जीतेगी या टीम का कुल
स्कोर अमुक रनों से कम या ज्यादा रहेगा | इनमे खिलाडी पोप्स भी शामिल है जो व्यक्तिगत प्रदर्शन पर आधारित है |

खिलाडी पोप्स में लोकप्रिय शर्त है अव्वल बल्लेबाज, अव्वल गेंदबाज और मैन ऑफ़ थे मैच | शर्त इस पर लगायी जा
सकती है कि अमुक खिलाडी 50 रन या ज्यादा बनाएगा और सीरिस में अमुक गेंबाज कितने विक्केट लेगा |
“बल्लेबाज मैचेस” एक प्रकार कि खिलाडी पोप्स है जिसमे बहुत मजा आता है | एक खिलाडी को दुसरे खिलाडी से
भिड़ा दिया जाता है | उद्येश्य है कि उस खिलाडी को चुने जो सबसे ज्यादा रन बनाये, सबसे ज्यादा छक्के मारे,  10
रन पहले बनाये और ऐसे ही सीधे मुकाबले |
शर्त विकल्प पर ज्यादा जानकारी के लिए हमारा लेख क्रिकेट शर्त के प्रकार पढ़े |

इन प्ले बाजार के साथ लाइव क्रिकेट शर्त

जुआरियों को उपलब्ध क्रिकेट शर्त का एक नया और खास प्रकार लाइव क्रिकेट शर्त से सम्बन्ध रखता है “इन प्ले” या
“इन रनिंग” बाजारों के जरिये, खेल जैसे बढे जुआरी हर गेंद पर शर्त लगा सकते है | प्ररुपी लाइव शर्तो में शामिल होने
वाली कुछ शर्ते है अगली गेंद में कितने रन, अगले आउट होने का तरीका और अगला आउट कौन होगा |

इस प्रकार कि क्रिकेट शर्त लाइव स्ट्रीमिंग विडियो और ऑडियो फीड के जरिये सिर्फ ऑनलाइन दी जाती है |
जैसे उपग्रह प्रसारण द्वारा मैच टेलीविजन पर लाये है, वैसे ही ये फीड खेल को वास्तविक समय में जुआरी के
कंप्यूटर पर लाती है| जुआरी हर गेंद को देख सकते है और खेल के अनुसार ठीक समय पर शर्त लगा सकते है |

शर्त प्रक्रिया के इस रूप की आदत होने में कुछ समय लग सकता है | उपलब्ध बैंडविथ में फर्क और कंप्यूटर बफरिंग समय के
कारन प्रसारण में लघु विलम्ब स्वाभाविक है | यह विलम्ब विकर्षण हो जाता है और कभी कभी शर्त प्रक्रिया में बाधा दल सकता
है | भाव तेजी से बदलते है इसलिए मैच और शर्त के अवसर पर पूरा ध्यान होना जरूरी है |

हालांकि शर्त के इस प्रकार में सुधार होता जा रहा है | क्रिकेट शर्त बाजार में बहुत विस्तार हुआ है
और मैच का हर ओवर अधिक रोमांचक हो गया है | हाल ही में लाई एक नवीनता है “कैश आउट”
जिसके जरिये इन प्ले जुआरी खेल के दौरान एक क्लिक के साथ मुनाफा पक्का या घाटा सीमित
कर सकता है |
इस शर्त की अधिक जानकारी  के लिए हमारा पृष्ठ लाइव क्रिकेट शर्त प्रक्रिया देखिये |

क्रिकेट शर्त युक्ति तैयार करना

इतने सरे शर्त के अवसर होने के कारन , जो नियमित रूप से मुनाफा चाहते हो उनके लिए
आवश्यक है की वे द्युत में जीतने वाली युक्ति तैयार करे | इसके लिए टीम और खिलाडियों के
इतिहास और आंकड़ो का अध्ययन जरुरी है, जो सौभाग्यवश ऑनलाइन भरी मात्रा में
उपलब्ध है | उदाहरण इन्डियन प्रीमियर लीग की वेबसाइट देखिये |

शौकिये से पेशेवर जुआरी बनने में सही पहला कदम है कि शर्तों का दायरा सीमित रखे |
विश्व क्रिकेट में बहुत सारे लीग, टीम और खिलाडी है और इन सब कि जानकारी रखना
नामुमकिन है | एक लीग चुनने से, जैसे IPL, शोध का दायरा सीमित हो जाता है और
कार्य आसान |
मैच बेटिंग कोई भी अच्छी क्रिकेट शर्त प्रक्रिया युक्ति कि नींव है | आधी शर्त प्रक्रिया विजेताओं
को चुनने में होनी चाहिए | इसलिए जल्द से जल्द हैंडीकीपिंग में सफल होना जरुरी है | जांचे
माने मानदंड में शामिल है टीम का फॉर्म, खिलाडियों कि प्रवृति, मौसम का पूर्वानुमान और
पिच और मैदान कि हालत | हेंडीकेपर को श्रेष्ठ भाव खोजने होंगे | कई सट्टेबाजो से भावों
कि तुलना करके ही शर्त लगनी चाहिए |
इस वेबसाइट के क्रिकेट शर्त प्रक्रिया युक्ति विभाग में विश्व के सबसे कामयाब हैंडीकेपरो से बेहतरीन
सुझावों कि सूची है | कौनसे शर्त प्रकार से दूर रहना चाहिए और अच्छे भाव कहा मिलेंगे जैसे सही
सलाह मिलेगी | जो एक सफल क्रिकेट शर्त प्रक्रिया तैयार करना चाहते है इसे जरुर पढ़े |

ऑनलाइन क्रिकेट शर्त प्रक्रिया

क्रिकेट पर ऑनलाइन शर्त लगाने के लिए www.bet365.com.कॉम
दो सबसे लोकप्रिय साईट है | ये साईट दोनों Skrill और neteller से राशि जमा
करने देती है, भारतीयों को उनके घर के पते से खाता खोलने देती है और प्रत्याहार और शर्त
भारतीय रूपये में स्वीकार करती है | पौंड योरो और डोलर में कार्य करने वाले सट्टेबाजो के
लिए हमारा क्रिकेट शर्त प्रक्रिया साईट का पृष्ठ देखिये | हमेशा कि जैसे, यदि आप कोई भी खेल
पर ऑनलाइन शर्त लगाने वाले हो, हम शुभकामनाये देते है और आपको जिम्मेदारी के साथ
शर्त लगाने के लिए प्रोत्साहित करते है | हमारा क्रिकेट शर्त प्रक्रिया पर लेख पढने के लिए
धन्यवाद |